PM Modi Garib kalyan Rojgar Yojana 2020 PMGKY रजिस्ट्रेशन फार्म

PM Modi Garib kalyan Rojgar Yojana 2020 PMGKRY रजिस्ट्रेशन फार्म:- Government of India has introduced a new scheme named Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan (गरीब कल्याण रोजगार अभियान) to help Migrant workers and Rural Citizen who lost their jobs due to COVID-19 pandemic.  PM Narendra Modi has launched the Garib kalyan Rojgar Yojana on 20th June 2020 at 11:00 AM to providing Livelihood Opportunities to migrant workers in these 6 state & District List Rajasthan, Bihar, Uttar Pradesh, Madhya Pradesh, Jharkhand & Odisha. Candidates can apply for Pradhan Mantri Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan Kya Hai, Online Apply through the official portal. Check the Registration process from the below section.

PM Modi Garib kalyan Rojgar Yojana

इस अभियान के अंतर्गत देश के ग्रामीण क्षेत्रो के प्रवासी मजदूरों को अधिक लाभ प्रदान किया जायेगा। इस अभियान को 6 राज्यों के 116 जिलों में 125 दिनों तक प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए मिशन मोड में चलाया जाएगा।  हमारे देश की वित्तमंत्री सीतारमण का कहना है कि हम 125 दिनों के भीतर सरकार की लगभग 25 योजनाओं को 116 जिलों तक पहुंचाएंगे। इन सभी योजनाओं को सरकार ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ के तहत साथ लाएगी। तथा हम सभी योजनाओं को 125 दिनों के भीतर सेचुरेशन लेवल पर लेकर जाएंगे। इस योजना का लाभ उठाने के लिए देश के प्रवासी मजदूरों को इस योजना के तहत आवेदन करना होगा। इस Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Yojana के अंतर्गत लगभग 50 हज़ार करोड़ रूपये का खर्च सरकार द्वारा किया जायेगा।

Garib kalyan Rojgar Yojana
Garib kalyan Rojgar Yojana

केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण योजना के राहत पैकेज के तहत गरीबों को राशन भी दिया है। पीएम गरीब खाद्यान्न योजना के माध्यम से 5.29 करो़ड़ लोगों को 2.65 लाख मीट्रिक टन राशन अब तक दिया गया है। बता दें कि सरकार ने गरीबों को मुफ्त राशन देने का ऐलान किया था, ताकि वे लॉकडाउन में अन्न के संकट से दो-चार न हों। इतना ही नहीं सरकार कुल 20.11 लाख टन राशन बांटेगी। राशन के अलावा जो सबसे जरूरी चीज लोगों को बतौर सहयता दी जा रही है वो है गैस सिलेंडर। उज्ज्वला योजना के तहत 97.8 लाख सिलेंडर जरूरतमंदों तक पहुंचाए गए हैं।

मोदी गरीब कल्याण अभियान के उद्देस्य:

कडाउन से प्रभावित गरीबों की मदद की जाएगी। जिन लोगों को तुरंत मदद की जरूरत है, उन्हें राहत दी जाएगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लाई जाएगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ गरीबों को राशन के अतिरिक्त 3 महीने तक 10 किलो गेहूं या चावल अतिरिक्त दिया जाएगा। इसके अलावा एक किलो दाल भी दी जाएगी। किसानों के खाते में 2000 रु. की किश्त अप्रैल के पहले हफ्ते में डाल दी जाएगी, इससे 8.69 करोड़ किसानों को फायदा मिलेगा। मनरेगा के तहत मजदूरी 182 से बढ़ाकर 202 रुपए की गई। 3 करोड़ सीनियर सिटीजंस, विधवाओं, दिव्यांगों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) का फायदा मिलेगा।

3 करोड़ महिला जनधन खाताधारकों को 500 रुपए प्रति माह अगले 3 महीने तक दिए जाएंगे। 3 करोड़ सीनियर सिटीजंस, विधवाओं, दिव्यांगों को डीबीटी का फायदा मिलेगा, 1000 रुपए दिए जाएंगे। उज्ज्वला स्कीम के तहत 3 महीने तक फ्री सिलेंडर दिया जाएगा। इससे 8.3 करोड़ परिवारों को फायदा होगा। बीपीएल परिवारों को अन्न, धन और गैस की दिक्कत नहीं होगी। स्वयं सहायता समूहों को, जिनसे 7 करोड़ परिवार जुड़े हैं, बैंक से पहले 10 लाख का कर्ज मिलता था, अब 20 लाख का मिलेगा।

ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत बारह अलग-अलग मंत्रालय और विभाग

  • रेलवे मंत्रालय
  • पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय
  • पर्यावरण विभाग
  • ग्रामीण विकास मंत्रालय
  • पंचायती राज विभाग
  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • नई और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय
  • सीमा सड़क विभाग
  • दूरसंचार मंत्रालय
  • कृषि विभाग मंत्रालय
  • खान विभाग

Garib Kalyan Rojgar Abiyan मुख्य विशेषताएँ

  • लॉक डाउन के दौरान को प्रवासी मजदूर अपने घर वापस लोट कर आये है उन्हें इस अभियान के तहत काम मुहैया कराया जायेगा।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के अंतर्गत सबसे ज्यादा लाभ ग्रामीण क्षेत्रो के प्रवासी मजदूरों को प्रदना किया जायेगा।
  • देश के 6 राज्यों के116 जिलों में 125 दिनों तक Garib kalyan Rojgar Yojana अभियान चलेगा जायेगा  इस अभियान के सरकारी तंत्र प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए मिशन मोड में काम करेंगे।
  • इस अभियान के तहत 116 जिलों के 25 हजार मजदूरों को 125 दिनों का काम मुहैया जायेगा। 
  • आपको बता दें कि इन 6   राज्यों के 116 जिलों में करीब 67 लाख प्रवासी मजदूर वापस हुए हैं। इन 116 जिलों में बिहार में 32, उत्तर प्रदेश में 31, मध्य प्रदेश में 24, राजस्थान में 22, ओडिशा में 4 और झारखंड में 3 जिले शामिल हैं।
  • केंद्र सरकार द्वारा PM Modi Garib kalyan Rojgar Yojana का बजट 50 हजार करोड़ रुपये रखा गया है ।
  • PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan के तहत कम्युनिटी सैनिटाइजेशन कॉम्पलेक्स, ग्राम पंचायत भवन, वित्त आयोग के फंड के अंतर्गत आने वाले काम, नैशनल हाइवे वर्क्स, जल संरक्षण और सिंचाई, कुएं की खुदाई. पौधारोपण, हॉर्टिकल्चर, आंगनवाड़ी केंद्र, पीएमआवास योजना (ग्रामीण), पीएम ग्राम संड़क योजना, रेलवे, श्यामा प्रसाद मुखर्जी RURBAN मिशन, पीएम KUSUM, भारत नेट के फाइबर ऑप्टिक बिछाने, जल जीवन मिशन आदि के काम कराए जाएंगे।
  • इस अभियान को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 20 जून को आरम्भ किया जायेगा।  
  • इस योजना  का मकसद देश के ग्रामीण इलाकों में आजीविका के अवसर बढ़ाना और अपने घर वापस आये प्रवासी मजदूरों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाना।

PMGKY जरूरी दस्तावेत:

  • आवदेक इन 6 राज्यों में से किसी एक का नागरिक होना चाहिए
  • आवेदक के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • निवासी प्रमाण पत्र।
  • रोजगार केवल 18 साल से ऊपर की आयु के लोगों को दिया जाएगा।

गरीब कल्याण योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के आवेदन के लिए सबसे पहले कैसे अप्लाई करें इस के अंतर्गत जमाकर्ता को सबसे पहले किसी भी आरबीआई की अथॉराइज्ड बैंक अकाउंट खुलवाना होगा। इसका एक अलग फॉर्म होता है जो आरबीआई की तरफ से दिया जाता है। ये फॉर्म केवल अघोषित संपत्ति रखने वालों को ही भरना होता है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को निकटतम ग्राम पंचायत (जो भी आपके पास में हो ) में जाकर संपर्क करना होगा। शहर में उम्मीदवार को नामांकन करवाने के लिए अपनी नगर पालिका में जाकर संपर्क करना होगा।

सरकार की तरफ से अभी इस योजना का ऐलान ही हुआ है, अभी इस पर किसी तरह का कोई कार्य शुरू नहीं हुआ है। लेकिन जल्द ही सरकार इस योजना से जुड़े सभी अपडेट सामने लाएगी।

PMJKY आधिकारिक वेबसाइट : CLICK HERE

गरीब कल्याण रोजगार योजना का ऐलान प्रधानमंत्री 20 जून को करेंगे।बताया जा रहा है कि इस अभियान को कारगर बनाने के लिए 125 दिनों तक कैंपेन चलाया जाएगा। जिसकी अंतिम तारीख 22 अक्टूबर 2020 होगी। इस अभियान में सरकार 25 अलग अलग सेक्टर के कार्यो को किस तरह बढ़ाया जाए इस पर फोकस रखेगी।  इस योजना के माध्यम से सरकार का लक्ष्य प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के अलावा ग्रामीण इलाकों में एक ऐसे इंफ्रास्ट्रक्चर को तैयार करना होगा, जिससे ग्रामीण इलाकों में ही रोजगार पैदा किए जा सकें। सूत्रों से पता चला है कि PMGKRY के लिए सरकार 50 हजार करोड़  रूपए खर्च करेगी। बिहार के खगड़िया जिले के ब्लॉक बेलदौर के गांव तेलिहार से यह अभियान शुरू किया जाएगा।

As the scheme is launched by PM Modi on 20th June but the procedure of application is yet to be announced. So as soon it was available by the government we will notify the same here on this page and also provide you a stepwise procedure so that you can apply for the scheme easily. Till then you just stay with us for more updates.

Leave a Comment